ये है दुनिया की सबसे महंगी जेल, जहां एक कैदी पर खर्च होते है इनते करोड़

बता दें जेल का नाम ग्वांतानमो बे जेल है। इस चर्चित जेल का यह नाम इस कारण पड़ा है, क्योंकि यह ग्वांतानमो खाड़ी के तट पर स्थित है।


जेल का नाम सुनते ही मन में कई तरह के विचार आते हैं। वहां की सुरक्षा, कैदियों के खाने-पीने की व्यवस्था कैसी होगी। परन्तु क्यूबा में एक ऐसी जेल है। जहां इन सब बातों को सोचने का कोई मतलब ही नहीं बनता है, क्योंकि यहां सिर्फ एक कैदी पर करोड़ों रुपये खर्च होते हैं। यही कारण है कि यह जेल दुनिया की सबसे महंगी जेल मानी जाती है।

बता दें जेल का नाम ग्वांतानमो बे जेल है। इस चर्चित जेल का यह नाम इस कारण पड़ा है, क्योंकि यह ग्वांतानमो खाड़ी के तट पर स्थित है। अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स की खबर के अनुसार, इस जेल में फिलहाल 40 कैदी हैं और हर कैदी पर सालाना करीब 93 करोड़ रुपये खर्च होते हैं। इस जेल में लगभग 1800 सैनिक तैनात हैं। यहां सिर्फ एक कैदी पर लगभग 45 सैनिकों की नियुक्ति है। जेल की सुरक्षा में तैनात सैनिकों पर हर साल करीब 3900 करोड़ रुपये खर्च होते हैं। अब आप इस बात को सोच रहे कि आखिरकार इस जेल में कैदियों को इतनी सुरक्षा क्यों दी जाती है? बता दें कि यहां कई ऐसे अपराधियों को रखा गया है, जो बेहद ही खतरनाक हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, 9/11 हमले का मास्टरमाइंड खालिद शेख मोहम्मद भी इसी जेल में बंद है।

इस जेल में 3 इमारतें, दो खुफिया मुख्यालय और तीन अस्पताल हैं। इसके अलावा यहां वकीलों के लिए भी अलग-अलग कंपाउंड बनाए गए हैं, जहां कैदी उनसे बात कर सकते हैं। यहां स्टाफ कैदियों के लिए चर्च और सिनेमा की भी व्यवस्था की गई है, जबकि अन्य कैदियों के लिए खाने के लिए अलावा जिम और प्ले स्टेशन भी बनाए गए हैं। इसके पहले ग्वांतानमो बे में अमेरिका का नेवी बेस था, मगर बाद में इसे डिटेंशन सेंटर (हिरासत केंद्र) बना दिया गया। अमेरिका के राष्ट्रपति रहे जॉर्ज डब्ल्यू बुश ने यहां एक कंपाउंड बनवाया, जहां आतंकियों को रखा जाता था। इसे कैंप एक्स-रे नाम दिया गया था।


Registration Login
Sign in with social account
or
Lost your Password?
Registration Login
Sign in with social account
or
A password will be send on your post
Registration Login
Registration
Please Wait While Processing .....
Please Wait While Processing .....