केन्द्रीय मंत्री ने शुरू की हरित खादी 

केन्द्रीय मंत्री गिरिराज ने भारतीय हरित खादी ग्रामोदय संस्थान के प्रधान कार्यालय का उद्घाटन किया 

केन्द्रीय मंत्री ने शुरू की हरित खादी 

ग्रीनवियर के पहले शोरूम का हुआ शुभारंभ

उद्यमियों के लिए टोल फ्री नम्बर 18002000224 हुआ जारी, फैशन डिजाइनर रितु बेरी भी रहीं मौजूद

लखनऊ। ‘हरित खादी राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर लोकप्रियता प्राप्त कर कामगार महिलाओं का अच्छा रोजगार का साधन बन गई है।’ ये कहना है केन्द्रीय सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम राज्यमंत्री गिरिराज सिंह का। वे मंगलवार को यहां रिंग रोड टेढ़ी पुलिया में खुल रहे ग्रीनवियर के पहले शोरूम का उद्घाटन कर रहे थे। इससे पहले उन्होंने यहां जानकीपुरम विस्तार में स्थापित भारतीय हरित खादी ग्रामोदय संस्थान के प्रधान कार्यालय का भी उद्घाटन प्रदेश के खादी व निर्यात प्रोत्साहन मंत्री सत्यदेवपचौरी, गुजरात विधानसभा सदस्य  संगीता बेन पाटिल, फैशन डिजाइनर रितु बेरी, भारतीय हरित खादी ग्रामोदय संस्थान के अध्यक्ष विजय पाण्डेय और नवनीत सहगल ,महामंडलेश्वर यतेन्द्रानन्द व अन्य गणमान्य अतिथियों की मौजूदगी में किया।

 

 केन्द्रीय राज्यमंत्री गिरिराज सिंह नें टोल फ्री नंबर 18002000224की शुरुआत कर ग्रामोदय संस्थान की टीम को संबोधित करते हुये कहा कि यह टोल फ्री नंबर भारतीय हरित खादी अभियान से जुड़े हर उस व्यक्ति के लिए है जो दूर गाँव में सोलर चरखे से अपनी आजीविका चला रहा है। टोल फ्री नम्बर उसे सोलर चरखे या उससे जुडी किसी अन्य समस्या को सीधे प्रधान कार्यालय तक पहुंचाने और उनका त्वरित समाधान प्राप्त करने में सहयोग करेगा।

 

केन्द्रीय योजनाओं को बढ़ावा

भारतीय हरित खादी ग्रामोदय संस्थान के अध्यक्ष विजय पाण्डेय ने बताया कि भारतीय हरित खादी ग्रामोदय संस्थान केवीआईसी द्वारा मान्यता प्राप्त और भारतीय माइक्रो क्रेडिट द्वारा प्रवर्तित संस्था है। यह संस्था आज लाखों परिवारों को रोजगार प्रदान कर रही है। विभिन्न व्यवसायों के लिए माइक्रो फाइनेंस उपलब्ध कराने के साथ-साथ कंपनी ई-रिक्शा एव सोलर चरखा के लिए माइक्रो फाइनेंस उपलब्ध करने वाली भारत की पहली कंपनी है। यह सौर ऊर्जा के समन्वय से खादी के प्रसार और ग्रामीण अंचल में स्वरोजगार के अवसर बढ़ाने के लिए सम्पूर्ण समाधान उपलब्ध कराती है। संस्थान ने बिहार में नवादा जिले के ग्राम खनवां में महिला सशक्तिकरण की दिशा में दो लाख वर्गफीट के प्रांगण में प्रशिक्षण सह उत्पादन केंद्र की स्थापना वर्ष 2016 में की। इस प्रशिक्षण केंद्र में महिलाओं को सोलर चरखा चलाने की ट्रेनिंग के साथ-साथ उन्हें प्रिंटिंग, डाईंग, लूम, सिलाई इत्यादि का प्रशिक्षण दिया जाता है। ट्रेनिंग के साथ ही उन्हें उनके घर पर चरखा लगाने के लिए प्रधानमंत्री रोजगार गारण्टी योजना से जोड़ना, बैंक लोन एवं चरखा उनके घर लगवाने में पूरा सहयोग किया जाता है। साथ ही  कताई से लेकर सिलाई तक तैयार सामानों की मार्केटिंग की जाती है।

 

मशहूर डिजाइनर भी साथ

      ग्रीनवियर में उपलब्ध फैशन रेंज का निर्माण मशहूर डिजाइनर रितु बेरी के मार्गदर्शन में हुआ है। रितु बेरी ने बताया कि खादी को कुछ वरिष्ठ लोगों की दुनिया से निकाल कर उसे एथनिक और मार्डन डिजाइनर वियर के फैशनेबल रूप में अपनी एक अलग पहचान के साथ सभी वर्ग के लोगों के बीच लाने की मुहिम है। ग्रीनवियर भारतीय हरित खादी ग्रामोदय संस्थान के विपणन मंच के रूप में खनवां के सुदूर गाँव में छिपी कलात्मकता को विश्वपटल तक पहुचाने में लगा है। 

 

ई-कामर्स प्लेट्फॉर्म भी

मिशन ब्रांड ग्रीनवियर के बारे में भारतीय हरित खादी ग्रामोदय संस्थान के सीईओ एवं ग्रीनवियर के संकल्पनाकार अभिषेक पाठक के अनुसार ग्रीनवियर जहाँ एक तरफ पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा देता है वहीं दूसरी ओर यह विलुप्त होती परम्परागत भारतीय कलाओं को टेक्सटाइल और डिजाइन से जोड़कर नये रूप में फैशन की दुनिय में ला रहा है। ग्रीनवियर अन्य फैशन स्टोर से हर मामले में अलग है, यहाँ खादी के पारम्परिक परिधानों से लेकर खादी के फैशनेबल वस्त्र एवं घर की जरूरतों के टेक्सटाइल और अन्य सामानों का ई-कामर्स प्लेट्फॉर्म भी है। यहाँ ऑनलाइन भी आर्डर किया जा सकता है। ग्रीनवियर एक ही समय में कारीगरों और उपयोगकर्ताओं को एक साथ सशक्त बनाता है। यह जहाँ सुदूर कारीगरों को रोजगार के साधन और नाम उपलब्ध कराता है वहीं दूसरी ओर इसे उपयोग करने वालों को उनके अनुसार बेहतरीन डिजाइनर सामान उचित मूल्य में उपलब्ध कराता है। 

 

मिला सवा दो करोड़ का रोजगार...

  महिलाओं के परिधानों का नामी ब्रांड डब्ल्यू ओरिला के वाइस प्रेसीडेन्ट धर्मेन्द्र कुमार ने भारतीय हरित खादी को दो लाख मीटर कपड़े के परिधान बनाने का आर्डर दिया है। विजय पाण्डे ने बताया कि इससे मजदूर महिलाओं को साल में सवा दो करोड़ का रोजगार मिलेगा। 


Registration Login
Sign in with social account
or
Lost your Password?
Registration Login
Sign in with social account
or
A password will be send on your post
Registration Login
Registration
Please Wait While Processing .....
Please Wait While Processing .....