भारत में कहीं भी न हो बाल विवाह : ताहिरा कश्यप खुराना

यहां तक कि उससे न सिर्फ उसका बचपन छीन लिया गया, बल्कि उसके सपने भी तोड़ दिए गए।

भारत में कहीं भी न हो बाल विवाह : ताहिरा कश्यप खुराना

लेखिका-फिल्मकार ताहिरा कश्यप खुराना का कहना है कि वह भारत को बाल-विवाह के अभिशाप से मुक्त करना चाहती हैं। यह दुर्भाग्य है कि भारत में कम उम्र की दुल्हनों की संख्या सबसे अधिक है।टाइम्स स्ट्रेटेजिक सोल्यूशन लिमिटेड और वर्ल्ड वी वांट द्वारा नई दिल्ली में इस महीने की शुरुआत में आयोजित एसडीजी सम्मेलन में आने के दौरान ताहिरा ने अपने मन की बात कही।

इस दौरान ताहिरा ने अपने बचपन की एक घटना का जिक्र किया, तब वह जालंधर (पंजाब) में रहती थीं। उनकी दोस्त की शादी 14 वर्ष की उम्र में हो गई थी और उसने 15 साल की उम्र में पहले बच्चे को जन्म दिया था। ताहिरा ने कहा, "इस बात ने मेरे जीवन को झकझोर कर रख दिया था। मैं तब छठी की छात्रा थी और हर दिन अपना पेशा बदलते रहती थी कि मुझे भविष्य में क्या बनना है, और तब मेरी दोस्त को ऐसा कुछ करने का मौका तक नहीं मिला। यहां तक कि उससे न सिर्फ उसका बचपन छीन लिया गया, बल्कि उसके सपने भी तोड़ दिए गए।"


Registration Login
Sign in with social account
or
Lost your Password?
Registration Login
Sign in with social account
or
A password will be send on your post
Registration Login
Registration
Please Wait While Processing .....
Please Wait While Processing .....