दिल्ली और NCR में वायु प्रदूषण 400 पार पहुंचा, त्वचा संबंधी रोगियों की संख्या 30 प्रतिशत बढ़ी

 मुख्यत: हवा की गति, हवा की दिशा और तापमान किसी जगह की हवा की गुणवत्ता तय करते हैं।


देश की राजधानी दिल्ली और एनसीआर में वायु प्रदूषण गुरुवार को AQI 400 के पार पहुंच गया हैं। यह खतरनाक स्तर की श्रेणी में आता है। दिल्ली के आनंद विहार इलाके में AQI 409, बवाना में 406, विवेक विहार में 391 और रोहिणी में 413 रिकॉर्ड दर्ज किया गया है।

बीते कुछ दिनों में दिल्ली में प्रदूषण का स्तर कम आका गया था, लेकिन अब एक बार फिर हवा खतरनाक स्तर तक पहुंच गया है। सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड (CPCB) के अनुसार, लोधी रोड पर पीएम 2.5 स्तर 297 (खराब स्तर) और जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम पर 346 (बहुत खराब स्तर) दर्ज किया गया हैं।

सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड कहना है कि हवा की गुणवत्ता मौसम संबंधी बहुत सारे गतिशील कारकों पर निर्भर करती है जो भौगोलिक स्थानों के हिसाब से अक्सर बदलते रहते हैं। मुख्यत: हवा की गति, हवा की दिशा और तापमान किसी जगह की हवा की गुणवत्ता तय करते हैं। दिल्ली-एनसीआर में लगातार प्रदूषण बढ़ने-घटने के क्रम में चिकित्सकों ने बताया कि देश की राजधानी में त्वचा संबंधी समस्याओं में 30 प्रतिशत तक बढ़ा गया है। दिल्ली-एनसीआर का जहरीला प्रदूषण न सिर्फ यहां रहने वालों के स्वास्थ्य पर गहरा प्रभाव डाल रहा है, बल्कि उनकी त्वचा पर भी काफी असर डाल रहा है। इससे लोगों को एलर्जी, खुजली जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।


Registration Login
Sign in with social account
or
Lost your Password?
Registration Login
Sign in with social account
or
A password will be send on your post
Registration Login
Registration
Please Wait While Processing .....
Please Wait While Processing .....