पाकिस्तानी सेना की साजिश का खुलासा- कोड के जरिए कश्मीर में आतंकियों से संपर्क

पाकिस्तानी सेना और पाकिस्तान की जमीन से आतंक की दुकान चलाने वाले कुछ आतंकी संगठन जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से बौखलाए हुए हैं.

पाकिस्तानी सेना की साजिश का खुलासा- कोड के जरिए कश्मीर में आतंकियों से संपर्क

नई दिल्ली. पाकिस्तानी सेना और पाकिस्तान की जमीन से आतंक की दुकान चलाने वाले कुछ आतंकी संगठन जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से बौखलाए हुए हैं. बौखलाहट इस कदर है कि वे आतंकियों से संपर्क साधने के लिए कोडिंग का इस्तेमाल कर रहे हैं.

भारतीय खुफिया एजेंसियों ने हाल ही में कुछ कोड वर्ड्स का खुलासा किया है, जिसका इस्तेमाल पाकिस्तानी सेना और वहां की विभिन्न आतंकवादी समूहों द्वारा जम्मू और कश्मीर के आंतकवादियों से संपर्क साधने के लिए किया जा रहा था, ताकि क्षेत्र में हिंसा फैलाई जा सके. सूत्रों ने यह जानकारी दी है. पता चला है कि ये कोड वर्ड्स पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में नियंत्रण रेखा के पास लगाए गए एफएम ट्रांसमिशन के जरिए भेजे जाते हैं. जिसमें जैश-ए-मोहम्मद के लिए (66/88), लश्कर-ए-तैयबा के लिए (ए3) और अल बद्र के लिए (डी 9) कोड रखे गए हैं.

यह संवाद पाकिस्तान के राष्ट्रगान 'कौमी तराना' के माध्यम से किया जा रहा है, जो कि पांच अगस्त को अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के लगभग एक हफ्ते बाद किया गया था. इसके बाद इस क्षेत्र में लैंडलाइन, मोबाइल फोन और इंटरनेट नेटवर्क को बंद कर दिया गया था. 'कौमी तराना' के कई संस्करणों का बहुत सक्रियता से इस्तेमाल किया जा रहा है, जिसे पाकिस्तानी सेना और आतंकवादी समूहों द्वारा एफएम ट्रांसमिशन स्टेशनों के माध्यम से जम्मू और कश्मीर के अपने हैंडलर्स और कैडर्स को भेजा जा रहा है.

खुफिया जानकारी में बताया गया है कि बहुत उच्च आवृत्ति वाले (वीएचएफ) रेडियो स्टेशनों द्वारा 'कौमी तराना' बजाकर भारत में एलओसी के नजदीक से सिगनल भेजे जा रहे थे, जिसका इस्तेमाल लश्कर, जैश और अल बद्र द्वारा जम्मू और कश्मीर में स्थानीय कैडर्स से संवाद के लिए भी किया जा रहा था.
सूत्रों का कहना है कि एलओसी के नजदीक आतंकवादियों द्वारा वीएचएफ संदेश प्राप्त किए जा रहे हैं और इसे हिंसा करने तथा आसपास के गांव वालों को गुमराह करने के लिए फैला रहे हैं.

पाकिस्तान की सेना भी पीओके के वर्तमान एफएम ट्रांसमिशन स्टेशनों को एलओसी के करीब स्थानांतरित कर रही है. पाकिस्तानी सेना के 10 कॉर्प्स कमांडर ने इस काम को सिगनल कॉर्प को सौंपा है. सूत्रों का कहना है कि पाकिस्तान के इस कदम का उद्देश्य आतंकवादियों की भारत में घुसपैठ कराना है.


Registration Login
Sign in with social account
or
Lost your Password?
Registration Login
Sign in with social account
or
A password will be send on your post
Registration Login
Registration
Please Wait While Processing .....
Please Wait While Processing .....