पसंद का प्रदेशाध्यक्ष बनाने की मांग पर अड़े सिंधिया, छोड़ सकते हैं कांग्रेस!

इन चर्चाओं का न तो सिंधिया ने अब तक खंडन किया है और न ही स्वीकारा है। 

पसंद का प्रदेशाध्यक्ष बनाने की मांग पर अड़े सिंधिया, छोड़ सकते हैं कांग्रेस!

मध्य प्रदेश में कांग्रेस इन दिनों आपसी द्वंद्व के दौर से गुजर रही है। नए प्रदेशाध्यक्ष के नाम को लेकर तनातनी का दौर जारी है, पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया अपनी पसंद का प्रदेशाध्यक्ष बनाने की मांग पर अड़े हुए हैं और उनकी पसंद को किनारे किए जाने की स्थिति में वे पार्टी को भी टा-टा कर सकते हैं। 

सिंधिया के नजदीकी ने नाम न जाहिर करने की शर्त पर कहा, सिंधिया अपनी पसंद का अध्यक्ष बनवाना चाहते हैं, इसके लिए वे किसी भी हद तक जा सकते है। उन्होंने अपनी बात से पार्टी हाईकमान को भी अवगत करा दिया है, अगर पार्टी हाईकमान ने उनकी बात को नजर अंदाज किया तो वे पार्टी का साथ भी छोड़ सकते हैं। 

कांग्रेस छोडऩे के बाद उनकी राजनीति की दिशा क्या होगी इसे कहा नहीं जा सकता। सूत्रों का कहना है कि सिंधिया अपनी बात से पार्टी हाईकमान को अवगत करा चुके हैं, सख्त लहजे में भी अपनी बात रख चुके हैं तो दूसरी ओर सिंधिया की दिल्ली में भाजपा नेतृत्व से मुलाकातों की चर्चाएं भी सामने आ रही है। इन चर्चाओं का न तो सिंधिया ने अब तक खंडन किया है और न ही स्वीकारा है। 

सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस के 114 विधायकों में 25 विधायक ऐसे हैं जिन्हें विधानसभा में सिंधिया के कोटे से टिकट मिला था। यह विधायक सिंधिया के यहां होने वाली बैठकों में जाते रहते हैं, मगर पार्टी से किनारा करने की बात आएगी तो 15 विधायक सिंधिया के साथ रहेंगे। 10 वे विधायक हैं जो दिग्विजय सिंह और कमलनाथ से भी मिलते रहते हैं। इन विधायकों में सत्ता का मोह भी है। 


Registration Login
Sign in with social account
or
Lost your Password?
Registration Login
Sign in with social account
or
A password will be send on your post
Registration Login
Registration
Please Wait While Processing .....
Please Wait While Processing .....