नवजोत सिद्धू का विवादित बयान, आतंकवादी मारनेे गए थे या पेड़ गिराने

सिद्धू ने अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट कर कहा कि भारत की वायु सेना आतंकियों को मारने गए थे या पेड़ गिराने गए थे।

नवजोत सिद्धू का विवादित बयान, आतंकवादी मारनेे गए थे या पेड़ गिराने

चंडीगढ़। पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारतीय वायुसेना के एयर स्ट्राइक पर पंजाब के मंत्री व कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने फिर एक विवादित बयान दिया है। उनका यह बयान सेना के मनोबल को गिराने जैसा प्रतीक होता है। सिद्धू ने अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट कर कहा कि भारत की वायु सेना आतंकियों को मारने गए थे या पेड़ गिराने गए थे। इस बयान के बाद राजनीति गरमा गई है।

पंजाब सरकार के मंत्री सिद्धू ने ट्वीट करते हुए कहा कि एयर स्ट्राइक से 300 आतंकी मारे गए। हां या नहीं? तो इसका क्या उद्देश्य था? आप आतंकियों को मार गिराने गए थे या पेड़ों को? क्या यह चुनावी हथकंडा है? विदेशी शत्रु से लडऩे के नाम पर हमारे लोगों से छल हुआ है। सेना का राजनीतिकरण बंद कीजिए। इसके आखिर में नवजोत सिंह सिद्धू ने लिखा है, ऊंची दुकान, फीका पकवान। आपको बताते जाए कि एयर स्ट्राइक में कितने आतंकी मारे गए हैं। इसको लेकर राजनीति तेज हो गई है। इस बार पंजाब सरकार में मंत्री और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने इसको लेकर सवाल खड़े कर दिए हैं। इसके साथ ही उन्होंने नसीहत भी दी है कि सेना का राजनीतिकरण बंद होना चाहिए।

इससे पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने भी शनिवार को कहा था कि जिस तरह अमेरिका ने ओसामा बिन लादेन के खिलाफ कार्रवाई के सबूत जारी किए थे, उसी तरह हमें भी एयर स्ट्राइक के सबूत जारी करने चाहिए। वहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि सेना के कार्य पर कांग्रेस प्रश्र चिन्ह लगा रही है। उनके कार्य से पाकिस्तान को हंसने का मौका मिल रहा है। 

उल्लेखनीय है कि पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले के 13वें दिन भारत ने पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में बालाकोट स्थित जैश-ए-मोहम्मद के प्रशिक्षण शिविर पर हवाई हमला कर दिया था। इसके साथ ही वायुसेना ने पीओके में मुजफ्फराबाद और चकोटी में भी जैश के आतंकी अड्डों को ध्वस्त कर दिया था। पुलवामा हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे।


Registration Login
Sign in with social account
or
Lost your Password?
Registration Login
Sign in with social account
or
A password will be send on your post
Registration Login
Registration
Please Wait While Processing .....
Please Wait While Processing .....