सर्वश्रेष्ठ शोध करनेवालेचिकित्सकोंकोसम्मानितकिए जाने के लिए रिसर्च शोकेसकाआयोजन


  
\r\nकिंगजाॅर्जचिकित्साविश्वविद्यालय के ब्राउनहाॅलमेंवर्ष 2018 मेंचिकित्साविश्वविद्यालय द्वारासर्वश्रेष्ठ शोध करनेवालेचिकित्सकोंकोसम्मानितकिए जाने के लिए रिसर्च शोकेसकाआयोजनकियागया।
\r\nइसअवसरपरकार्यक्रममेंबतौरमुख्य अतिथिश्रीअनूपचंद्रपाण्डेय,मुख्य सचिव, उत्तरप्रदेशएवंचिकित्साविश्वविद्यालय के मा0 कुलपति प्रो0 एम0एल0बी0 भटट् ने 26 चिकित्सकोंको एक्सीलेंसइनरिसर्चअवार्ड से सम्मानितकियागया।जिसमेंन्यूरोलाॅजीविभाग के डाॅ0 इमरानरिजवीकोब्रेनटयूबरकुलोसिस के क्षेत्र मेंसर्वश्रेष्ठ शोध के लिए सम्मानितकियागया।
\r\nइसअवसरपरचिकित्साविश्वविद्यालय के मा0 कुलपतिप्रो0 एम0एल0बी0 भटट् ने शोध कार्योकोप्रोत्साहितकरनेहेतुरिसर्चसेल के प्रभारी डाॅ0 आर0के0गर्ग की सराहनाकरतेहुए बतायाकिचिकित्साविश्वविद्यालय में 450 चिकित्सासंकाय सदस्य हैतथा 595 शोध पत्र प्रकाशितहुए जोकिअत्यंतहीसराहनीय उपलब्धि है।उन्होंनेबतायाकिविश्व के ख्यातिप्राप्तसंस्थानोंके एक पेपरप्रतिसंकाय प्रतिवर्षकाप्रकाशनउत्कृष्ट मानाजाताहैजबकि के0जी0एम0यू0 द्वाराइनमानकों से भीअधिकप्रतिसंकाय प्रतिवर्षरिसर्चपेपरप्रकाशितकिए जारहेहैंऔरभविष्य में 1ण्5 पेपरप्रतिसंकाय सदस्य प्रतिवर्षप्रकाशितकिए जानेका लक्ष्य प्राप्तकियाजानाहै।
\r\nमा0 कुलपतिजी ने बतायाकिइसवर्ष के0जी0एम0यू0 रिसर्चसेलको 26 करोड़ की एकस्ट्राम्यूरलवित्तप्रोषणप्राप्तहुआहै, जबकि 200 से अधिकरिसर्चप्रोजेक्टप्रकियामेंहैं।इसआकड़ेकोभी के0जी0एम0यू0 के 450 संकाय सदस्यों के सापेक्ष किए जाने की आवश्यकताहै।
\r\nइसअवसरपर मा0 कुलपतिजी द्वारा के0जी0एम0यू0 में शोध कार्योमेंप्राप्त की गईउपलब्धियोंतथाइसकेप्रोत्साहन के बारेमेंबतातेेहुए यह भी घोषणा की गईअगलेेवर्ष से 5 इम्पेक्टफैक्टरसे शोध पत्रोंको रूपए 05 हजार एवं 10 इम्पैक्टफैक्टर से शोधपत्रोंको रूपए 10 हजारपुरस्कारराशिप्रदान की जाएगी।इसअवसरपररिसर्चसेल के प्रभारीप्रो0 आर0के0गर्ग ने बतायाकिआनेवाले समय मेंसंस्थानअपने शोध कार्योमेंऔरतेजी से कार्यकरेगा।इसअवसरपर ऐरा यूनिवर्सिटी के वाइसचांसलर प्रो0 अब्बासअलीमेहदी ने भी के0जी0एम0यू0 के शोध कार्य की सराहना की गई।
\r\nकार्यक्रममेंबतौरमुख्य अतिथिउपस्थितउत्तरप्रदेश के मुख्य सचिवश्रीअनूपचंद्रपाण्डेय ने चिकित्साविश्वविद्यालय द्वारा शोध कार्योपरप्राप्त की गईउपलब्धियोंहेतु के0जी0एम0यू0 की सराहनाकरतेहुए मा0 कुलपतिजीको बधाईदी।अपनेउदबोधनमें मा0 मुख्य सचिवजी द्वाराअपनेनिजी जीवन के अनुभवोंकोसांझा करतेहुए कहाकिपूरेविश्वमेंसंचालितशिक्षणसंस्थाओं की अपेक्षा के0जी0एम0यू0 के चिकित्सक, छात्र-छात्राएं एवंरिसर्चस्काॅलर द्वाराअत्याधिकपरिश्रमकियाजाताहै, जबकिइसकी अपेक्षाभारतवर्षमेंगुणात्मक शोध कार्य कम किए जातेहैंतथाउन्होंने यह अपेक्षा की कि के0जी0एम0यू0 भविष्य मेंअपनेगुणात्मक शोध कार्यो से चिकित्सा क्षेत्र मेंअपनी अग्रणी भूमिकानिभानेमेंसमर्थहोगा।
\r\nइसअवसरपरअतिथिश्रीअनूपचंद्रपाण्डेय, चीफसेके्रट्री, उत्तरप्रदेशसरकार एवंचिकित्साविश्वविद्यालय के मा0 कुलपति प्रो0 एम0एल0बी0 भटट् ने डाॅ0 इमरानरिजवी, प्रो0 अमिताजैन, प्रो0 अभिजीतचंद्रा, डाॅ0 ऋषिपाल, डाॅ0 शिवानीपाण्डेय, डाॅ0 सीमानायक, डाॅ0 हरदीप सिंह मल्होत्रा, प्रो0 श्रद्धा सिंह, प्रो0 वाणी गुप्ता, डाॅ0 विशालगुप्ता, डाॅ0 अक्षय आनंद, डाॅ0 नीतू सिंह, डाॅ0 सत्येन्द्रकुमार सिंह, डाॅ0 सारिकागुप्ता, डाॅ0 मो0 कलीमअहमद, प्रो0 आर0एन0श्रीवास्तव, प्रो0 राजेशवर्मा, डाॅ0 नीरजकुमार, प्रो0 रश्मिकुमार, डाॅ0 रविउनियाल, डाॅ0 प्रवीण के0 सिंह, प्रो0 अजय सिंह, डाॅ0 श्वेतापाण्डेय एवं प्रो0 ऋषिसेठीकोअवार्ड से सम्मानितकिया।इसअवसरपरअधिष्ठाता, नर्सिंग प्रो0 मधुमतिगोयल एवंअधिष्ठाता, चिकित्सासंकाय प्रो0 विनीतादासमुख्य रूप से उपस्थितरहीं।


Registration Login
Sign in with social account
or
Lost your Password?
Registration Login
Sign in with social account
or
A password will be send on your post
Registration Login
Registration
Please Wait While Processing .....
Please Wait While Processing .....