दो दिवसीय सेंट्रल जोन नेशनल कॉन्फ्रेंस  का आयोजन

दो दिवसीय सेंट्रल जोन नेशनल कॉन्फ्रेंस  का आयोजन

 

किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी, लखनऊ के जैव रसायन विभाग ने 2 और 3 फरवरी 2019 कोइंडियन एकेडमी ऑफ बायोमेडिकल साइंसेज के तत्वावधान में दो दिवसीय सेंट्रल जोन नेशनल कॉन्फ्रेंस  का आयोजन किया। इंडियन एकेडमी ऑफ बायो मेडिकल साइंसेज का गठन मूल रूप से किया गया था जिसमे एक मंच पर बेसिक वैज्ञानिकों और चिकित्सकों; को एक साथ लाएं ताकि प्रयोगशालाओं में जो भी शोध हो रहा है उसका अनुवाद अस्पताल में रोगी की देखभाल के लिए किया जा सके।विभाग द्वारा एक सूचनात्मक कार्यक्रम वैज्ञानिक समिति द्वारातैयारकियागयाथाजिसमेंविशेषज्ञों द्वाराउत्कृष्ट इंटरैक्टिव सत्र आयोजितकिए गए थे।दोदिवसीय सम्मेलनमेंदेश के विभिन्नहिस्सों से बड़ी संख्या मेंचिकित्सकोंऔरबेसिकवैज्ञानिकों ने भागलिया।सम्मेलन के प्रतिभागियों ने सीखनेऔरनिरंतरशिक्षा के अवसरोंकाअनुभवकिया, जैसाकिसम्मेलन के विषय में‘‘हालहीमेंट्रेंड्सइनबायोमेडिकलरिसचर्ः एडवांस एंडचैलेंज‘‘ मेंदर्शायागयाथा।सम्मेलनमें 300 से अधिकप्रतिनिधियों ने भागलियाऔर 100 से अधिकपेपरऔरपोस्टर शोध विद्वान एवंपीजीछात्रों द्वाराप्रस्तुतकिए गए। सम्मेलनकाउद्घाटनकिंगजॉर्जमेडिकल यूनिवर्सिटी, लखनऊ के सेल्बीहॉलमेंमाननीय न्यायमूर्तिश्री शबीहुलहसनैन द्वाराकियागया।जिसमेप्रो0 एम.एल.बी. भट्ट, माननीय कुलपति, किंगजार्जचिकित्साविश्वविद्यालय एवं एराविश्वविद्यालय, लखनऊ के माननीय कुलपतिप्रोअब्बासअलीमहदीउद्घाटनसमारोह की अध्यक्षताकररहेथे, प्रो0मोइनुद्दीन, सचिवसेंट्रलजोनप्।ठैतथाबायोकेमस्ट्री के विभागाध्यक्ष, जे0एन0मेडिकलकॉलेज, ए0एम0य0ू, अलीगढ़, डॉ0दिलुत्पल शर्मा, प्रमुख, जैवरसायनविभाग, केजीएमयू, लखनऊ, और डॉ0फरजानामहदी, निदेशक-शिक्षाविद, एराविश्वविद्यालय, लखनऊसमारोहमेंउपस्थितरहेतथाकेजीएमयूमेंजैवरसायनविभाग से डॉ0 एम कलीमअहमदसम्मेलन के आयोजनसचिवथे।
माननीय श्रीन्यायमूर्ति शबीहुलहसन, जोइसअवसर के मुख्य अतिथिथे, ने प्।ठैब्व्छ.2019 की स्मारिका;ैवनअमदपतद्धकाविमोचनकिया।इसकेअलावा, प्।ठै की फैलोशिपकिंगजॉर्जचिकित्साविश्वविद्यालय, लखनऊ के माननीय कुलपति प्रो0 एम0 एल0 बी0 भट्टकोप्रदान की गई, न्यूरोसाइंसेज के लिए श्रीमतीआबिदामहदीअवार्ड एम्स, नईदिल्ली की डा0 कुंजगचोसडलकोप्रदानकियागया। एक युवावैज्ञानिक के लिए ओमप्रकाश शर्मापुरस्कारजिन्होंनेबायोमेडिकलरिसर्चमेंउत्कृष्ट योगदानदियाहै, जिसेब्ैप्त्.प्प्ज्त्  के डा0रजनीशचर्तुवेदीकोवर्ष 2016 के लियएवंआईआईटी, जोधपुर से डॉ0 अमितमिश्राकोवर्ष 2017 के लियेदियागया।
कुछप्रमुख वक्ताओंमें एम्स नईदिल्ली से डॉ0रीमादादाऔर डॉ0सविता यादवएवं एम्स, जोधपुर से डॉ0कमलाकांत शुक्ला शामिलथे, जिन्होंनेकीटनाशकोंऔरअन्य रसायनों के अंधाधुंध उपयोग के कारणभारतमेंपुरुषनपुंसकता के बढ़तेप्रसारपरबात की, न केवल शुक्राणुओं की संख्या, बल्किइसकीगुणवत्तामेंभीकमीआतीहै। डॉ0रीमादादा ने स्वस्थ जीवन में योगऔर ध्यान के वैज्ञानिकमहत्वको समझायाऔरडीएनए नुकसानऔरटेलोमेरिकलंबाई के नुकसानकोरोककर शुक्राणु की गुणवत्ताऔर संख्या मेंसुधारकरनेमेंअपनीभूमिकाकोविस्तार से बताया। आईआईटीकानपुर से डॉ0बुशराअतीक ने प्रोस्टेटकैंसरपरअपनेशोधकोप्रस्तुतकियाऔररोग के लिए माइक्रोआरएनए आधारित नए निदानऔररोगनिरोधीबायोमार्कर की भूमिकाको समझाया, उन्होने यह भीकहाकिवहप्रोस्टेटकैंसर के लिए नए बायोमार्करउपकरण के लिए एम्स, नईदिल्लीऔरकेजीएमयू, लखनऊ के साथमिलकरकामकररहीहै।
आईआईटीमंडी के डॉ0अमितप्रसाद ने अपनीबातमेंबतायाकिकैसेपरजीवीटीनियासोलियम, मानवप्रतिरक्षाप्रणालीपरहमलाकरताहैऔरप्रतिरक्षाप्रतिक्रियाकोकमजोरकरताहैजिससेविकासशीलदुनियामेंमिर्गीहोतीहै।
आईआईटीजोधपुर के डॉ0अमितमिश्रा ने न्यूरोडीजेनेरेटिवबीमारियोंकोरोकनेमें एंजाइमई 3 यूबिकिटिनलिगेज की लाभकारीभूमिकापरबातकी। एम्स, नईदिल्ली से प्रा0 एस.एस. चैहान ने कहाकिरक्तकैंसर के रोगियोंमें एंजाइमकैथेप्सिनकास्तरअधिकहोताहैऔरइसकेनिषेध काउपयोगकीमोथेरेप्यूटिक एजेंट के रूपमेंकियाजासकताहै। एम्सनईदिल्ली की प्रोअल्पना शर्मा ने मूत्राशय के कैंसर केलिए उपन्यासनिदानमार्करपरअपनेविचारप्रस्तुतकिये।
एम्स, पटना से प्रो0साधना शर्मना ने कैंसर के लिए इम्यूनोथेरेपीमेंनवीनतम घटनाओंपरविस्तार से बातकी। एम्स, नईदिल्ली से प्रो0कुंजगचोसडोल ने जीन एफएटी 1 परअपनाव्याख्यानदिया, जिसेग्लियोब्लास्टोमा के लिए रोगनिरोधी या चिकित्सीय मार्कर के रूपमेंइस्तेमालकियाजासकताहै। केजीएमयू लखनऊ के प्रो0 एन0 एस0वर्मा ने डायबिटीजऔरडिसिप्लिडिमिया के प्रबंधनमेंओमेगा 3 फैटी एसिड के लाभकारीप्रभावपरबातकी।
प्।ठैब्व्छ.2019कासमापन 03.02.19 कोसमापनसमारोह के साथहुआ, जिसेमुख्य अतिथि प्रो0 आर0के0गर्ग, डीन-शोधऔरप्रमुख, न्यूरोलॉजीविभाग, किंगजॉर्जमेडिकल यूनिवर्सिटी, लखनऊ द्वाराआयोजितकियागया।समारोह की शुरुआतवैज्ञानिकसमिति की अध्यक्ष डॉ0शिवानीपांडेय के स्वागतभाषण से हुई। एराविश्वविद्यालय के माननीय कुलपति प्रो0अब्बासअलीमहदी ने श्रोताओंकोसंबोधितकरतेहुए कहाकिचिकित्साअनुसंधान के क्षेत्र मेंनवीनतम रुझानों के निरंतरअद्यतन के लिए इसप्रकारकासम्मेलनआयोजितकरनाबहुतमहत्वपूर्णहै।उन्होंनेइसपरिमाण के सम्मेलन के आयोजन के लिए आयोजनसचिव डॉ0मो0 कलीमअहमदकोबहुत बधाईदीऔरआशाव्यक्त की किइससम्मेलन से युवाचिकित्सकोंऔर शोधकर्ताओंकोलाभहोगा।
सर्वश्रेष्ठमौखिकपेपरपुरस्कारप्राप्तकरनेवालेउम्मीदवारकेजीएमयू के डॉ0उजमा, ए0एम0य0ू के डॉ0अब्दुल्ला, अलीगढ़ के डॉ0रोशनकुमार, ग्वालियर के डॉ0रोशनकुमारथे।सर्वश्रेष्ठपोस्टरप्राप्तकरनेवालेउम्मीदवारोंमेंकेजीएमयू से तान्या त्रिपाठी, एराविश्वविद्यालय से प्रियादीक्षित, इंटीग्रल यूनिवर्सिटी से डॉ0 यासिर खान, एएमयू, अलीगढ़ से मो0तल्हा, एसजीटीमेडिकलकॉलेज, गुड़गांव से प्रिया यादव, केजीएमयू, लखनऊ से दिव्या यादव शामिलथीं, इलाहाबादविश्वविद्यालय, इलाहाबाद से ऋतंभराऔरकानपुर के रामामेडिकलकॉलेज से दीपकभी शामिलथे।
प्रो0आर.के. गर्ग, प्रमुख, न्यूरोलॉजीविभाग, किंगजॉर्जमेडिकलविश्वविद्यालय, लखनऊ, ने मुख्य रूप से श्रोताओंकोसंबोधितकरतेहुए जोरदेकरकहाकिअधिक से अधिकचिकित्सकोंकोइसप्रकार के सम्मेलनोंमेंभागलेनाचाहिए।उन्होंनेइसपरिमाण के सम्मेलन के आयोजन के लिए डॉ0मो0 कलीमअहमदको बधाईदीऔरआशाव्यक्त की किइससम्मेलन से युवा शोधकर्ताओंकोलाभहोगा।
डॉ0रंजना सिंह, बायोकैमिस्ट्री, केजीएमयू, लखनऊमें एसोसिएटप्रोफेसर द्वारा धन्यवादप्रस्ताव के साथसंपन्नहुआ ।


Registration Login
Sign in with social account
or
Lost your Password?
Registration Login
Sign in with social account
or
A password will be send on your post
Registration Login
Registration
Please Wait While Processing .....
Please Wait While Processing .....