बजट 2019 – बैंकिंग व्यवस्था में सरकार ने सुरक्षा अभियान छेड़ा : पीयूष गोयल

वित्त मंत्री पीयूष गोयल आज लोकसभा में अंतरिम बजट पेश करेंगे। इस बजट से विभिन्न सेक्टरों की अपनी-अपनी उम्मीदें हैं।

बजट 2019 – बैंकिंग व्यवस्था में सरकार ने सुरक्षा अभियान छेड़ा : पीयूष गोयल

वित्त मंत्री पीयूष गोयल आज लोकसभा में अंतरिम बजट पेश करेंगे। इस बजट से विभिन्न सेक्टरों की अपनी-अपनी उम्मीदें हैं। वहीं केंद्र सरकार इस बजट में आज बड़े ऐलान कर सकती है। वित्त मंत्री पीयूष गोयल एनडीए सरकार के अंतरिम बजट को समाज के स्पेक्ट्रम से बहुत सारी आशाओं और उम्मीदों के बीच पेश करेंगे।

– हमने ‘वन रैंक वन पेंशन’ के तहत अपने सैनिकों के लिए पहले ही 35,000 करोड़ रु। की घोषणा की है, सैन्य सेवा वेतन में पर्याप्त बढ़ोतरी की घोषणा की गई है। हमारे सैनिक हमारे गौरव और सम्मान हैं, ‘वन रैंक वन पेंशन’, जो पिछले 40 वर्षों से लंबित था, हमारे द्वारा लागू किया गया है : पीयूष गोयल

– प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत 75% महिला लाभार्थी, 26 सप्ताह का मातृत्व अवकाश और प्रधानमंत्री मातृ योजना, सभी देश में महिलाओं को सशक्त कर रहे हैं : पीयूष गोयल

– प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना को लेकर वित्त मंत्री ने कहा, सरकार ने स्वच्छ ईंधन और स्वास्थ्य आश्वासन सुनिश्चित करने के लिए ग्रामीण परिवारों को 8 करोड़ मुफ्त एलपीजी कनेक्शन देने का कार्यक्रम शुरू किया जिसमें से 6 करोड़ कनेक्शन पहले ही दिए जा चुके हैं।

–  60 वर्ष की आयु के बाद असंगठित क्षेत्र में श्रमिकों के लिए 100 रुपये प्रति माह के योगदान के साथ 3000 रुपये प्रति माह की मासिक पेंशन प्रदान करने के लिए, प्रधानमंत्री श्रम योगी मंथन नामक एक पेंशन योजना शुरू की जा रही है : पीयूष गोयल

–  फसल ऋणों के पुनर्निर्धारण के बजाय, प्राकृतिक आपदाओं से बुरी तरह प्रभावित होने वाले किसानों को समय पर पुनर्भुगतान पर 2% का ब्याज और अतिरिक्त 3% का ब्याज मिलेगा : पीयूष गोयल

–  छोटे और सीमांत किसानों के लिए सुनिश्चित आय सहायता प्रदान करने के लिए, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना को मंजूरी दी गई है। किसानों के कल्याण के लिए और उनकी आय दोगुनी करने के लिए, सभी 22 फसलों के उत्पादन लागत में एमएसपी को 1.5 गुना बढ़ाने का ऐतिहासिक निर्णय लिया गया। इस पहल से अनुमानित लागत 75,000 पर 12 करोड़ लघु और सीमांत किसानों को लाभ होगा : पीयूष गोयल

–  केन्द्र सरकार ने दावा किया कि उसने 22 फसलों के समर्थन मूल्य में इजाफा किया है। इसके साथ बजट में वादा किया कि देश में सभी किसानों के खाते में सीधे 6000 रुपये पहुंचाने का काम किया जाएगा। 2 हेक्टयर खेत रखने वाले किसानों को दिया जाएगा पैसा। इस योजना से देश के 12 करोड़ किसानों को फायदा होगा। 1 दिसंबर 2018 से लागू की जाएगी यह योजना : वित्त मंत्री पीयूष गोयल

–  आयुष्मान भारत दुनिया का सबसे बड़ा स्वास्थ्य सेवा कार्यक्रम लगभग 50 करोड़ लोगों को चिकित्सा प्रदान करने के लिए शुरू किया गया था, जिसके परिणामस्वरूप गरीब परिवारों द्वारा 3,000 करोड़ की बचत की गई थी : वित्त मंत्री

–  नौकरियों और शिक्षा में आरक्षण देकर आर्थिक रूप से कमजोर पिछड़े वर्गों के लिए पूर्ण प्रतिनिधित्व लाने का प्रयास शुरू किया गया है : वित्त मंत्री

–  महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि के रूप में, दुनिया के सबसे बड़े व्यवहार परिवर्तन आंदोलन ने स्वच्छ भारत की शुरुआत की; 98% से अधिक ग्रामीण स्वच्छता कवरेज हासिल किया गया है, 5.45 लाख से अधिक गाँवों को ODF घोषित किया गया : वित्त मंत्री

–  लगभग 3 लाख करोड़ पहले ही बैंकों और लेनदारों के पक्ष में वसूल हो चुके हैं, बड़े बकायेदारों को भी हमारी सरकार ने नहीं बख्शा है : पीयूष गोयल

– चालू खाता घाटा इस साल 2.5% रहने की उम्मीद है। दिसंबर 2018 में मुद्रास्फीति 2.1% थी। 2018-19 के संशोधित अनुमान में राजकोषीय घाटे को 3.4% तक लाया गया है : पीयूष गोयल

–  मुद्रास्फीति एक छिपी और अनुचित कर है, 2009-14 के दौरान 10.1% से, हमने बैक-ब्रेकिंग मुद्रास्फीति को पीछे छोड़ दिया है : पीयूष गोयल

–  मोदी सरकार ने अपने कार्यकाल के दौरान देश को एक बार फिर विकास के मार्ग पर लाने का काम किया है। सरकार की कोशिशो के चलते देश दुनिया की 6वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनकर खड़ी हुई है। : वित्त मंत्री गोयल

–  महंगाई देश में गरीब जनता के लिए अभिशाप है। सरकार ने महंगाई दर को 4.6 फीसदी के स्तर पर लाने का काम किया है जिससे गरीब जनता को सबसे बड़ी राहत पहुंची। : पीयूष गोयल

–  पीयूष गोयल ने अपने बजट भाषण की शुरुआत वित्त मंत्री अरुण जेटली के अच्छे स्वास्थ्य की कामना करते हुए की।

–  वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने लोकसभा में अपना बजट भाषण शुरू कर दिया है।

–  वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने लोकसभा में अंतरिम बजट 2019-20 पेश किया।

–  कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने कहा, सुबह से ही, सरकार के सूत्रों ने मीडिया घरानों को बजट संकेत भेजे हैं, अब अगर ये संकेत एफएम के भाषण में हैं, तो यह एक रिसाव के रूप में सामने आता है। यह गोपनीयता के उल्लंघन का एक गंभीर मुद्दा होगा।

–  केंद्रीय मंत्रिमंडल ने अंतरिम बजट 2019-20 को मंजूरी दे दी है।

–  वहीं तेलुगु देशम पार्टी (TDP) के सांसदों ने काले रंग की पोशाक को केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। वे आंध्र प्रदेश को विशेष श्रेणी का दर्जा देने की मांग को लेकर संसद परिसर में विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

–  बजट को लेकर मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, वे लोक सभा चुनावों पर नजर रखते हुए बजट में लोकलुभावन योजनाओं को पेश करने की कोशिश करेंगे। वे बजट जो अब तक प्रस्तुत किए गए हैं वे वास्तव में आम जनता को लाभान्वित नहीं करते हैं। आज केवल ‘जुमला’ सामने आएगा। उनके पास केवल 4 महीने हैं जब वे योजनाओं को लागू करेंगे?

–  कैबिनेट की बैठक के बाद केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, और केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद संसद में पहुंच चुके है।

–  केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री राधा मोहन सिंह ने कहा, पिछले पांच बजट किसानों को समर्पित किए गए हैं, सरकार का छठा बजट भी किसानों के लिए होगा, यह उन्हें सशक्त बनाएगा।

–  संसद में बजट की मुद्रित प्रतियों पहुंच चुकी है जिनकी कड़ी सुरक्षा में जांच की जा रही है।

–  रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने कहा, जिस तरह से सरकार ने रेलवे में निवेश बढ़ाया है, सीसीटीवी कैमरे लगाने से लेकर वाईफाई तक, मुझे विश्वास है कि रेलवे में आगे निवेश निश्चित रूप से बढ़ेगा।

–  अंतिरम बजट को मंजूरी देने के लिए सुबह 10 बजे केंद्रीय कैबिनेट की बैठक होगी। ये बैठक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में होगी।

–  संसद में अंतरिम बजट 2019-20 पेश करने के लिए पीयूष गोयल वित्त मंत्रालय पहुंचे चुके है।

– मोदी सरकार एक लोकप्रिय सरकार है, यह स्वाभाविक है कि हम हर चीज का ध्यान रखेंगे। हम लोगों के लिए जो संभव होगा वह करेंगे। हमने हमेशा एक अच्छा बजट पेश किया है। : शिव प्रताप शुक्ला

गौरतलब है की वित्त मंत्री अरुण जेटली की अनुपस्थिति में वित्तमंत्रालय का प्रभार संभाल रहे पीयूष गोयल सुबह 11 बजे लोकसभा की कार्यवाही शुरू होने के बाद स्पीकर की आज्ञा से अपना बजट भाषण देंगे। सूत्रों के अनुसार, लोकसभा चुनाव से पहले पेश होने वाले अंतरिम बजट में किसानों और मध्यम वर्ग को लुभाने के लिए उन्हें कई रियायतें दी जा सकती है। किसान देश की आबादी में 60 प्रतिशत की हिस्सेदारी रखते हैं और उसके बाद मध्यम वर्ग सबसे बड़ा वर्ग है। इसलिए, माना जा रहा है कि सरकार का इन दोनों वर्गों पर जोर रहेगा।


Registration Login
Sign in with social account
or
Lost your Password?
Registration Login
Sign in with social account
or
A password will be send on your post
Registration Login
Registration
Please Wait While Processing .....
Please Wait While Processing .....