बादाम करता है दिल की बिमारियों को कम

बादाम करता है दिल की बिमारियों को कम

लखनऊ ; बादाम को ‘मेवाराज’ कहा जाता है। यह न केवल सभी स्थानों पर मिलता है, करारा है और स्वादिष्ट है बल्कि इसकी हर बाइट में प्राकृतिक पोषण है। इसमें प्रोटीन और फैट समेत कई जरूरी पोषक तत्व हैं। नई पीढ़ी इसे आसान स्नैक मानती है जिसमें पोषण भी भरपूर है। मुट्ठी भर बादाम आपको पूरे दिन काम और फुर्सत में मस्ती करने की एनर्जी देता है। कैलीफोर्निया आमंड द्वारा आयोजित कार्यक्रम में जाने-माने शेफ बलविन्दर पाल सिंह और प्रसिद्ध पोषण विशेषज्ञ नेहा मोहन सिन्हा ने बादाम के सेहत भरे पोषण संबंधी विभिन्न अध्ययनों से प्राप्त जानकारी के आधार पर एक लाइव कुकिंग डेमो और प्रेजेंटेशन दिए। इस इंटरएक्टिव सेशन में प्रसिद्ध फिटनेस एक्सपर्ट सचिन साहनी ने भी एक लाइव डेमो देते हुए नियमित व्यायाम के साथ आहार में बादाम के पोषण का महत्व बताया।

इस सेशन में शेफ बलविन्दर पाल सिंह ने अपने डेमो में कुछ स्वादिष्ट और सेहत से भरपूर रेसीपी के बारे में जानकारी दी जिन्हें आप भी आसानी से और फटाफट बना सकते हैं। उन्होंने स्मार्ट सनैक्स में काला मसाला बादाम और हल्दी-मिर्ची बादाम बना कर दिखाया। 

इसके बाद फिटनेस एक्सपर्ट के मार्गदर्शन में वर्क आउट सेशन हुआ। कुछ बुनियादी व्यायाम दिखाए गए जो आप घर पर भी आसानी से सकते हैं। श्री साहनी ने व्यायाम के साथ खान-पान में कुछ नया करने, जैसे हर दिन मुट्ठी भर बादाम खाने की सलाह दी जो हमेशा स्वस्थ रहने में मदद करता है। फिटनेस सेशन के बाद न्युट्रिशनिस्ट नेहा मोहन सिन्हा ने मंच संभाला और सेहत और तंदुरुस्ती के लिए बादाम के पोषण से जुड़े कई फायदे बताए। उन्होंने बताया कि बादाम में एंटी-आॅक्सीडेंट के गुण हैं (क्योंकि इसमें पर्याप्त विटामिन ई है); बादाम खाने से तृप्ति मिलती है; वजन और डायबीटीज़ भी काबू में रहता है और दिल की सेहत के लिए भी यह जरूरी है जो अब तक प्रकाशित कई शोधों से स्पष्ट हो गया है।

न्युट्रिशनिस्ट नेहा मोहन सिन्हा ने कहा, ‘‘आज दिल की बीमारी, मोटापा और लाइफस्टाइल से जुड़ी अन्य बीमारियांे का प्रकोप बढ़ रहा है इसलिए भागदौड़ की इस जिन्दगी में आहार में सेहत का ध्यान रखना जरूरी है। इसका एक आसान उपाय बतौर हेल्दी स्नैक बादाम को दैनिक आहार का हिस्सा बनाना है। अमेरिकन हार्ट एसोएिशन के जर्नल में प्रकाशित एक स्टडी से यह सामने आया है कि आपके सेहत भरे संपूर्ण आहार के तहत हर दिन स्नैक में 42 ग्राम बादाम लेने से दिल की बीमारी कई खतरे कम हो जाते हैं। स्नैक में बादाम लेने से लो डेंसीटी लाइपोप्रोटीन (एलडीएल/ बुरा) कोलेस्ट्राॅल के स्तर में सुधार होता है और पेट की चर्बी और कमर का घेरा भी कम होता है और इन सभी के दिल की बीमारियों के खतरे होने की बात पहले से प्रमाणित है।

शेफ बलविन्दर पाल सिंह ने चंद मिनटों के अंदर बादाम के आसान और स्वादिष्ट रेसीपी बनाने के साथ लोगों को बताया, ‘‘सेहत भरे आहार का अर्थ यह नहीं है कि आप स्नैक्स को हाथ नहीं लगाएं। आज सबसे जरूरी है स्मार्ट स्नैक्स जैसे कि मुट्ठी भर बादाम जो न केवल आपको तृप्त कर देता है बल्कि पेट भरे होने का अनुभव भी देता है। इससे आपको मील्स के बीच भूख नहीं सताती और बुरे स्नैक्स की ओर आपका ध्यान ही नहीं जाता है। इसलिए बादाम को मैं सबसे सही ‘स्मार्ट स्नैक’ मानता हूं!’’

‘‘आज की व्यस्त ज़िन्दगी में सभी के लिए नियमित व्यायाम का समय निकालना कठिन होता है। हालांकि इसका उनकी सेहत और तंदुरुस्ती पर बुरा असर पड़ता है और लाइफस्टाइल से जुड़ी समस्याएं होने लगती हैं। इसलिए संतुलित आहार के साथ हर दिन किसी प्रकार का व्यायाम जरूरी है। यह जरूरी नहीं है कि आप जिम जाएं, दौड़ने या फिर पैदल सैर करने जाएं पर घर पर ही कुछ आसान व्यायाम कर लें और यह हर दिन करें। आने वाले समय में आपको इसका बड़ा लाभ होगा। नियमित व्यायाम के साथ आहार का भी विशेष ध्यान रखना होगा जैसे स्नैक्स में फल और बादाम जैसे ड्राई फ्रूट लेना। आप जल्द ही महसूस करेंगे कि आपकी ज़िन्दगी बदल गई,’’ फिटनेस एक्सपर्ट सचिन साहनी ने कहा और 15 मिनट के व्यायाम के संचालन के साथ लाइव डेमो का कार्यक्रम पूरा किया।

कैलीफोर्निया आमंड के सुदर्शन ने कहा कि मजूमदार इसलिए याद से नियमित व्यायाम करें, संतुलित आहार लें, बादाम का स्मार्ट स्नैक लें और हर दिन की सेहत भरी शुरुआत करें।


Registration Login
Sign in with social account
or
Lost your Password?
Registration Login
Sign in with social account
or
A password will be send on your post
Registration Login
Registration
Please Wait While Processing .....
Please Wait While Processing .....